इन 6 टिप्स से शिशु की त्वचा का रखे ख्याल | Baby Skin Care Tips in हिंदी

क्या आपको पता है की आपके New Born Baby की स्किन आपकी स्किन से 5 गुना सवेंदनशील होती हैं। एक नवजात शिशु की सफलतापूर्वक delivery के बाद माता - पिता अपने नए जन्मे बच्चे के स्वस्थ्य के प्रति काफी सतर्क हो जाते हैं। 

Baby Skin Care Tips in हिंदी - शिशु त्वचा की देखभाल के तरीक़े।

ऐसे में हाल फिलाल जन्मे बच्चे की त्वचा का ध्यान रख पाना बहुत जरुरी हो जाता है। निचे दी गई कुछ टिप्स की मदद से आप अपने New Born Baby की स्किन का ध्यान बहुत अच्छे से रख सकते हैं। 

Baby Skin Care Tips in हिंदी - शिशु त्वचा की देखभाल के तरीक़े। 

पहली बार माँ या बाप बनने का अनुभव बहुत खास होता हैं। जिसे कोई भी माँ-बाप सब्दो में बया नहीं कर सकता हैं। Parents बनने के बाद नन्ही जान का ध्यान रखना, एक बहुत जिम्मेदारी ज़िम्मेदारी होती हैं। अपने बच्चे की हैल्थी स्किन के लिए निचे दी गई tips को फॉलो करें। 

  1.  stroller उपयोग करें। 
  2. ज्यादा नलहाए नहीं। 
  3. माइल्ड साबुन का उपयोग करें। 
  4. नारियल के तेल से करें शिशु की मालिश।
  5. शिशु की त्वचा तथा हर्बल पाउडर।
  6. बच्चों के कपड़े धोने पर भी दे विशेष ध्यान।

1 stroller उपयोग करें। 

जब हम बहार जाते है तो सूरज की तेज किरणे हमारी skin को काफी नुकसान पहुँचती हैं। तो आप अब अंदाजा लगा ही सकते हो की इन् तेज किरणों से शिशु त्वचा पर क्या प्रभाव पढ़ सकता हैं। 

तो क्या बच्चो को धुप से बचा कर रखें? जी नहीं, बच्चे के लिए Vitamin D  शिशु के लिए उतना ही जरुरी है जितना की हमारे लिए।  आप स्ट्रोलर (stroller) का उपयोग कर सकते हो, बच्चे को स्ट्रोलर में रखकर हलकी से धूप लगाए। 

2 ज्यादा नलहाए नहीं। 

अक्सर नए माता-पिता अपने बच्चे को कई बार नल्हते हैं। वो ऐसी गलती अपने बच्चे को साफ़ सुथरा बनाये रखने के लिए कर बैठते हैं। 

आपको पता होना चाहिए की शिशु को एक हफ्ते में सिर्फ 2 से 3 बार ही नलहाना चाहिए जब तक की गर्भनाल (cord stump) बच्चे के शरीर से निकल ना जाएं। गर्भनाल (cord stump) निकलने के बाद ही बच्चे को Bathtube में गुनगुने पानी से नलहाए। 

3 माइल्ड साबुन का उपयोग करें। 

आपको पता है की शिशु की त्वचा बहुत ही नाज़ुक होती हैं। ऐसे में ध्यान रहें की जब भी आप अपने शिशु को नलहाए तो माइल्ड साबुन का ही उपयोग करें। किसी भी हानिकारक साबुन का उपयोग करने से बचें। 

इस विषय में आप अपने डॉक्टर से भी सलाह ले सकते हैं। अपने शिशु का ध्यान रखिए । 

4 नारियल के तेल से करें शिशु की मालिश।

आपको शिशु त्वचा की नारियल तेल से मालिश करनी चाहिए। गुनगुने नारियल तेल से बच्चे की त्वचा की मालिश करें। नारियल के तेल से मालिश करने पर शिशु की त्वचा, बाल तथा हड्डियां मजबूत बनेगी। 

नारियल के तेल में पाए जाने वाले एंटीसेप्टिक गुण, शिशु की त्वचा को संक्रमित होने से बचाएगा। नारियल के तेल से आपके शिशु की संवेदनशील त्वचा को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। 

5 शिशु की त्वचा तथा हर्बल पाउडर।

बच्चों को नहाने के बाद बहुत सारे माताएं शिशु त्वचा को बेहतर बनाए रखने के लिए खुशबूदार पाउडर लगाती हैं। लेकिन ठहरिए, इन पाउडर में खुशबू पैदा करने के लिए कई केमिकल्स का उपयोग किया जाता है। जो आपकी नन्ही सी जान के लिए बहुत हानिकारक हो सकता है।

ऐसे में किसी खुशबूदार पाउडर की जगह हर्बल पाउडर का उपयोग करें। हर्बल पाउडर आपकी शिशु की त्वचा को बिना हानि पहुंचाए सेहतमंद बनाए रखता है। 

6 बच्चों के कपड़े धोने पर भी दे विशेष ध्यान।

अगर आप चाहते है की आपके बच्चे की त्वचा हेल्थी बने रहें, तो बच्चो के कपड़े धोने पर विशेष ध्यान दे। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि कपड़े धोने के बावजूद भी डिटर्जन के कुछ कण कपड़ों पर ही रह जाते हैं। 

यह कण आपके शिशु की त्वचा के लिए बहुत हानिकारक होते हैं। कपड़ों को 2-3 बार पानी से अच्छे से धोए। अगर आप माइल्ड डिटर्जन या विशेष बच्चों के कपड़ों के लिए बने डिटर्जन का उपयोग करेंगे तो बहुत अच्छा रहेगा। 

बच्चों की त्वचा से सम्बंधित अन्य उपाय एव  सावधानियां  

समय-समय पर बच्चो के नाख़ून काटना ना भूले। बच्चो के नाखून काफी पतले तथा नुकीले होते हैं जिस कारण वह खुद को भरी नुकसान पंहुचा सकते हैं। 

कुछ बच्चो की त्वचा पर में जन्म से ही निशान होते हैं। इसके लिए आपको घबराने की कोई जरुरत नहीं हैं। क्योकि यह एक अनुवांशिक स्थिति हैं। 

जब भी आप अपने शिशु को नए कपडे पहनाए तो एक बार सुनुश्चित कर ले की कपड़े साफ़ हैं। क्योकि बच्चो की रोगो से लड़ने की शक्ति  बहुत काम होती हैं। 
Post Navi

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां

Close Menu